भरतपुर के मंदिर | Bharatpur Mandir GK

Bharatpur Mandir GK

लक्ष्मण मंदिर

भरतपुर शहर के मध्य स्थित भारत में लक्ष्मण जी का एकमात्र मंदिर जिसका निर्माण महाराजा बलदेवसिंह ने करवाया। इस मंदिर की भव्य इमारत सफेद पत्थर के आकर्षक बेलबूटे युक्त पच्चीकारी से बनी है। श्री लक्ष्मण जी भरतपुर के जाट राजवंश के कुलदेवता है।

गंगामंदिर

भरतपुर शहर के मध्य स्थित यह एक कलात्मक देवालय है। लाल रंग के पत्थरों से निर्मित इस मंदिर की दो मंजिला इमारत 84 खम्भों पर टिकी हुई है। इसका शिलान्यास महाराजा बलवंतसिंह ने 1846 में किया था, जिसका निर्माण कार्य 90 वर्ष तक चलता रहा।

इसमें 12 फरवरी, 1937 को महाराज ब्रजेन्द्र सिंह ने गंगा की मूर्ति प्रतिष्ठित करवाई। इस मंदिर में गंगामैया के वाहन मगरमच्छ की विशाल मूर्ति भी विराजमान है।

उषा मंदिर

लाल पत्थरों के विशाल स्तम्भों पर खड़े इस मंदिर की स्थापना बाणासुर ने करवायी थी। प्रेमाख्यान पर आधारित इस मंदिर का जीर्णोद्वार शासक लक्ष्मण सेन की रानी चित्रलेखा व पुत्री मंगलाराज ने 936 ई. में करवाया।

गोकुलचंद्र मंदिर (कामां, भरतपुर)

यह पुष्टिमार्गीय वैष्णवों का प्रसिद्ध मंदिर है।

ढंढार वाले हनुमानजी का मंदिर

रुदावल कस्बे में ककुन्द नदी के किनारे स्थित।

Spread the love

Leave a Comment

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!