भारत का भूगोल – India Geography in Hindi

india Geography in Hindi – भारत का नामकरण – भारतीय संस्कृति के प्राचीन ग्रंथ विष्णु पुराण के अनुसार –उत्तरं यत् समुद्रस्य हिमाद्रेश्चैय, दक्षिणम्। वर्ष तत् भारत नाम, भारती यत्र सन्ततिः।।

India Geography in Hindi – भारत का भूगोल

Table of Contents

26 जनवरी की ऐसी शुभकामनायें नहीं देखि होंगी| यहाँ क्लिक करके देखो

26-january-2023

अर्थात् – उत्तर में हिमालय से लेकर दक्षिण में सेतु बन्ध (वर्तमान में हिन्द महासागर) तक फैला हुआ। जो भूभाग है उसे भारत या भारतवर्ष कहते हैं।

भारत – यह नाम आर्य़ों के द्वारा दिया गया क्योंकि सबसे पहले मध्य एशिया से आकर आर्य़ों की एक शाखा-भरत शाखा ने अनार्य़ों पर अपना प्रभुत्व स्थापित किया और इसी शाखा के नाम पर इस देश का नाम भारत वर्ष या भारत पड़ा।

India Geography Hindi

हिन्दुस्तान – यह नाम ईरानियों के द्वारा दिया गया। क्योंकि प्राचीन भारत और फारस (ईरान) इन दोनों देशों के बीच हिन्दूकुश पर्वतमाला सीमा विभाजन का कार्य करती थी। अर्थात् हिन्दूकुश पर्वतमाला से प्राचीन भारत (वर्तमान में पाकिस्तान) की सीमा प्रारम्भ होती थी। इसलिए इस देश को हिन्दुस्तान कहा जाता है।

इण्डिया (India) – यह नाम यूनानियों के द्वारा दिया गया। क्योंकि यूनानी (ग्रीक) सिन्धु नदी को Indus कहते थे और जिस देश में Indus नदी बहती थी। उस देश को India कहा।

भारतीय संविधान में भारत के लिए “India that is Bharat” नाम प्रयुक्त हुआ है।

भारत का भूगोल pdf download

  • आकृति और विस्तार – भारत की आकृति पूर्णतः त्रिभुजाकार न होकर चतुष्कोणीय है। भूगोलवेत्ता स्ट्रेबो ने भारत की आकृति पतंग जैसी बताई है।
  • अक्षांशीय स्थिति – भारत 804’ उत्तरी अक्षांश से 3706’ उत्तरी अक्षांश।
  •  देशान्तरीय स्थिति –  6807’ पूर्वी देशान्तर से 97025’ पूर्वी देशान्तर तक फैला हुआ है। इस प्रकार इसका अक्षांशीय विस्तार 3706 – 804’ = 2902 तथा देशान्तरीय विस्तार 97025’ – 6807’ = 29018 है।
  • भारत विषुवत् रेखा के उत्तर में पूरा का पूरा भारत उत्तरी गोलार्द्ध में स्थित है।
  • उत्तरी बिन्दु – ‘इन्दिरा कोल’ (Indira Col) जिला गिलगित (J & K) वर्तमान में पाक अधिकृत कश्मीर (POK) में है।
  • दक्षिणी बिन्दु – भारत की मुख्य भूमि से दूर अंडमान तथा निकोबार द्वीप समूह में ‘इन्दिरा प्वाइंट’ (Indira Point) 6045’ उत्तरी अक्षांश पर ग्रेट निकोबार में स्थित है। इन्दिरा  प्वाइण्ट को ‘पिगमेलियन प्वाइण्ट’, ‘पारसन प्वाइण्ट’ तथा ‘ला हि चिंग प्वाइण्ट’ भी कहा जाता है।
  • पश्चिमी बिन्दु – गुहार मोती (गौर मोता), जिला-कच्छ (गुजरात)।
  • पूर्वी बिन्दु – उत्तरी तवांग (अरूणाचल प्रदेश)
  • पश्चिम से पूर्व की चौड़ाई – 2933 कि.मी. तथा कश्मीर से कन्याकुमारी तक उत्तर-दक्षिण दिशा में इसकी लम्बाई 3214 किमी. है।
  • भारत Indian Standard Time (IST)   पूर्वी देशान्तर रेखा को मानता है। यह इलाहाबाद के पास नैनी से गुजरती है।
  • अरुणाचल प्रदेश तथा सौराष्ट्र के बीच स्थानीय समय का अन्तर 30×4 min. =120 min. मिनट अर्थात दो घण्टे है।
  • क्योंकि अरुणाचल प्रदेश सौराष्ट्र के पूर्व में है, इसलिए वहां 2 घण्टे पहले सूर्येदय होगा। अरुणाचल प्रदेश को सूर्योदय का राज्य कहा जाता है।
  • कर्क रेखा (उत्तरी अक्षांश) भारत के बीचोबीच में 8 राज्यों में से होकर गुजरती है।
  • वे आठ राज्य- 1. गुजरात 2. राजस्थान 3. मध्यप्रदेश 4. छत्तीसगढ़ 5. झारखण्ड 6. पश्चिम बंगाल 7. त्रिपुरा 8. मिजोरम।
  • क्षेत्रफल – भारत का कुल क्षेत्रफल 3287263 वर्ग किमी. है जो विश्व के कुल भौगोलिक क्षेत्रफल का लगभग 2.4 प्रतिशत है।
  • क्षेत्रफल की दृष्टि से भारत का विश्व में सातवां स्थान है।
  1.  रूस            
  2. कनाड़ा                    
  3. चीन
  4. U.S.A.                
  5. ब्राजील                   
  6. ऑस्ट्रेलिया
  7. भारत
  • भारत से रूस साढ़े पांच गुना तथा कनाडा, चीन एवं संयुक्त राज्य अमेरिका लगभग तीन गुना बड़े हैं। इसके विपरीत, भारत पाकिस्तान से 4 गुना, फ्रांस से 6 गुना, जर्मनी से 9 गुना तथा बांग्लादेश से 23 गुना बड़ा है।
  • इस प्रकार हम यह कह सकते हैं कि भारत का आकार न तो भीमकाय है और न ही बौना।
  • स्थलीय सीमा – भारत की स्थलीय सीमा की लम्बाई 15,200 किमी. है।
  • तटीय सीमा – मुख्य भूमि की तटीय सीमा की लम्बाई 6,100 किमी. है। यदि अंडमान-निकोबार तथा लक्षद्वीप समूहों की तट रेखा को भी सम्मिलित किया जाए तो भारत की तटीय सीमा 7516.5 किमी. है।
  • अंतरर्राष्ट्रीय सीमा –भारत की अन्तर्राष्ट्रीय सीमाएं अधिकांशतः प्राकृतिक हैं और वे ऐतिहासिक रूप से निर्धारित हैं।
  • इस विशाल देश के तीन ओर अरब सागर, बंगाल की खाड़ी और हिन्द महासागर हैं।
  • भारत की मुख्य भूमि के अतिरिक्त बंगाल की खाड़ी में अंडमान तथा निकोबार द्वीप समूह और अरब सागर में लक्षद्वीप समूह स्थित है जो मुख्य भूमि से समुद्र द्वारा अलग हैं।
  • समुद्र पार भारत का सबसे निकट का पड़ोसी देश श्रीलंका है।
  • पाक जलडमरूमध्य भारत को श्रीलंका से अलग करता है।
  • भारत का दूसरा निकटतम समुद्री पड़ोसी देश इंडोनेशिया हैं जो निकोबार द्वीप समूह के अन्तिम द्वीप ग्रेट निकोबार के दक्षिण में स्थित है।
  • भारत के पूर्व में क्रमशः बांग्लादेश, म्यांमार, लाओस, मलेशिया, कम्पूचिया, थाइलैंड, इंडोनेशिया, वियतनाम आदि देश स्थित है।
  • भारत के पश्चिम में पाकिस्तान, अफगानिस्तान, ईरान, इराक आदि देश हैं। लक्षद्वीप के दक्षिण में मालदीव स्थित है।
  • उत्तर में हमारी सीमा हिमालय पर्वत बनता है। इसकी मुस्ताघ (Mustagh),अगील (Aghil) ए कुनलुन (Kun-lun), तथा कराकोरम जम्मू-कश्मीर की सीमा पर हैं।
  • यहां एशिया के चार प्रमुख देशों की अन्तर्राष्ट्रीय सीमा आकर मिलती है।

ये देश हैं। यहां एशिया के चार प्रमुख देशों की अन्तर्राष्ट्रीय सीमा आकर मिलती है।

  • ये देश हैं- (1) चीन (2) भारत, (3) अफगानिस्तान (4) पाकिस्तान।
  • इसके उत्तर एवं पूर्व में तिब्बत का पठार है जो अब चीन के अधीन है।
  • यह कैलाश एवं मानसरोवर की भूमि के नाम से विख्यात है।
  • भूटान के पूर्व की ओर उच्च हिमालय भाग है जो भारत तथा चीन के बीच अंतर्राष्ट्रीय सीमा का कार्य करता है।
  • इसे मैकमोहन रेखा (Macmohan Line) के नाम से जाना जाता है।
  • भारत के सुदूर उत्तरी-पूर्वी कोने पर उत्तरी-पूर्वी त्रिसन्धि है जहां पर भारत, चीन तथा म्यामार की सीमाएं आपस में मिलती हैं।
  • सर्वाधिक देशों से घिरा राज्य सिक्किम है।
  • त्रिपुरा तीनों ओर से बांग्लादेश से घिरा हुआ है।
  • सिक्किम केवल पश्चिम बंगाल को छूता है। जबकि मेघालय असम को छूता है। इस प्रकार सिक्किम और मेघालय एक-एक राज्य को छूने वाले दो राज्य हैं।
3 1

उत्तरप्रदेश 8 राज्यों – बिहार, झारखंड, छत्तीसगढ़, मध्यप्रदेश, राजस्थान, हरियाणा, दिल्ली केन्द्र शासित प्रदेश, हिमाचल और उत्तराखंड को छूता है। कुल 9 क्षेत्र हैं।

पांडिचेरी एक ऐसा केन्द्र शासित प्रदेश है। जो तीन राज्यों आन्ध्रप्रदेश (यनम), तमिलनाडु (पुदुचेरी और कराईकल) और केरल (माहे) में स्थित है।

अंडमान निकोबार द्वीप समूह की राजधानी पोर्ट ब्लेयर दक्षिणी अंडमान में है।

4 1
Spread the love

1 thought on “भारत का भूगोल – India Geography in Hindi”

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!