India gk in Hindi

India gk in Hindi

भारत में आन्दोलन का अंतिम चरण

भारत में प्रशासनिक सुधार की जांच कर अपेक्षित सुधार के लिए रिपोर्ट देने के लिए 1919 के एक्ट के अनुसार 1927 ई. में सर जॉन साइमन की अध्यक्षता में 7 सदस्य (अध्यक्ष सहित) आयोग गठित किया गया, जिसमें कोई सदस्य भारतीय नहीं था। भारत में आन्दोलन का अंतिम चरण यह कमीशन 3 फरवरी, 1928 को …

भारत में आन्दोलन का अंतिम चरण Read More »

Spread the love

गाँधी युग – महात्मा गांधी के आंदोलन

महात्मा गाँधी (1894-1914 ई.) तक दक्षिण-अफ्रीका में रहने के बाद वर्ष 1915 में भारत आए। गाँधीजी का राष्ट्रीय आन्दोलन में प्रवेश अहमदाबाद में साबरमती आश्रम की स्थापना की। 1917 ई. में चम्पारन (बिहार) में नील की खेती करने वाले किसानों के प्रति यूरोपियन अधिकारियों के अत्याचारों के विरोध में प्रथम सत्याग्रह किया। महात्मा गांधी के …

गाँधी युग – महात्मा गांधी के आंदोलन Read More »

Spread the love

भारत में क्रांतिकारी आन्दोलन

यूरोपियों की प्रथम राजनैतिक हत्या 22 जून, 1897 को पूना में हुई इसमें प्लेग समिति के प्रधान श्री रैंड तथा लेफ्टिनेंट एयर्स्ट की हत्या चापेकर बंधुओं (दामोदर और बालकृष्ण) ने कर दी। इन दोनों को सरकार ने फांसी की सजा दी। इसी कांड के पक्ष में लेख लिखने के कारण तिलक को 18 माह के कारावास …

भारत में क्रांतिकारी आन्दोलन Read More »

Spread the love

भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस

1876 ई. में स्थापित इण्डियन एशोसियेशन (सुरेन्द्र नाथ बनर्जी द्वारा) को भारत का कांग्रेस से पूर्व प्रथम महत्वपूर्ण राजनीतिक संगठन माना जाता है। भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस की स्थापना का श्रेय एक सेवानिवृत्त अंग्रेज प्रशासक ए.ओ.ह्यूम को दिया जाता है। तथा तत्कालीन गवर्नर जनरल लार्ड डफरिन के सहयोग से दिसम्बर, 1885 में बम्बई …

भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस Read More »

Spread the love

पुनर्जागरण तथा समाज सुधार आन्दोलन

आधुनिक शिक्षा तथा पाश्चात्य देशों के सम्पर्क से आधुनिक शिक्षा प्राप्त लोगों में सामाजिक चेतना जागी। उन्होंने अनुभव किया कि रूढ़िवादिता व अंधविश्वासों के कारण ही भारतीय समाज पिछड़ा हुआ है। इस जागृति के फलस्वरूप भारत में पुनर्जागरण की लहर चल पड़ी और समाज सुधार हेतु अनेक संगठनों ने आन्दोलन चलाए। राजा राममोहन राय भारतीय …

पुनर्जागरण तथा समाज सुधार आन्दोलन Read More »

Spread the love

ब्रिटिश प्रशासनिक संगठन

भारत में नागरिक सेवा का जन्मदाता ‘लार्ड कार्नवालिस‘ था। 1800 ई. में लार्ड वेलेजली ने नागरिक सेवा में आने वाले युवा लोगों के प्रशिक्षण के लिए कलकत्ता में ‘फोर्ट विलियम कॉलेज’ खोला। ब्रिटिश प्रशासनिक संगठन 1833 में चार्टर एक्ट ने राज्य के उच्चतम पदों पर भारतीयों की नियुक्ति को कानूनी बना दिया, किन्तु 1793 ई. के कानून की धाराओं के …

ब्रिटिश प्रशासनिक संगठन Read More »

Spread the love

भारत में किसान आंदोलन

भारत में किसान आंदोलन नील विद्रोह का वर्णन ’दीनबन्धु‘ मित्र ने अपनी पुस्तक नीलदर्पण में किया है। इस आन्दोलन की शुरुआत दिगम्बर व विष्णु विश्वास ने की। 1858 ई. से 1860 ई. तक चला यह आन्दोलन अंग्रेज भूमिपतियों के विरुद्ध किया गया। बंगाल में नील कृषकों की हड़ताल कम्पनी के कुछ अवकाश प्राप्त अधिकारी बंगाल तथा …

भारत में किसान आंदोलन Read More »

Spread the love

ब्रिटिश शासन के विरुद्ध विद्रोह – नागरिक विद्रोह

ब्रिटिश शासन के विरुद्ध विद्रोह संन्यासी विद्रोह (1763-1800 ई.) संन्यासी विद्रोह की स्पष्ट जानकारी बंकिम चन्द्र चटर्जी के उपन्यास ’आनन्दमठ‘ से मिलती है, इस विद्रोह को कुचलने के लिए वारेन हेस्टिंग्स को कठोर कार्यवाही करनी पड़ी थी। अंग्रेजों द्वारा बंगाल के आर्थिक शोषण से जमींदार, कृषक तथा शिल्पी सभी नष्ट हो गए। 1770 ई. में …

ब्रिटिश शासन के विरुद्ध विद्रोह – नागरिक विद्रोह Read More »

Spread the love

1857 की क्रांति – भारतीय स्वतंत्रता संग्राम

इस समय गवर्नर जनरल लार्ड केनिंग था। विद्रोह का आरम्भ 10 मई, 1857 को मेरठ में पैदल टुकड़ी से हुआ। इससे पहले 29 मार्च, 1857 को बैरकपुर (प. बंगाल) के 34वीं एन. आई. रेजीमेंट के सैनिक मंगल पांडे ने अपने सार्जेन्ट की हत्या कर दी, परिणामस्वरूप 34वीं एन.आई. को भंग कर दिया गया। 1857 की …

1857 की क्रांति – भारतीय स्वतंत्रता संग्राम Read More »

Spread the love

भारत में सांस्कृतिक आन्दोलन

इस पोस्ट में हम आप को भारत में सांस्कृतिक आन्दोलन ( bharat me sanskritik andolan )के बारे में विस्तार से बतायगे। इस में आप को सूफी आन्दोलन ( bhakti andolan ), भक्ति आन्दोलन ( sufi andolan ) के बारे में जानकारी प्रदान करगे। भक्ति एवं सूफी 10वीं शताब्दी के बाद परम्परागत रूढ़िवादी प्रवृत्तियों पर अंकुश …

भारत में सांस्कृतिक आन्दोलन Read More »

Spread the love
error: Content is protected !!